पृष्ठ

शनिवार, 14 मार्च 2015





बहुत थक गयी हूँ ज़िन्दगी, कुछ पल को आराम दे दे.


दौड़ते भागते मंसूबों को ,कुछ पल का विराम दे दे .

   
Image result for tired of life

2 टिप्‍पणियां:

  1. कुछ तो बदल दे मौसम, कुछ एहतराम दे दे
    रूह को मिले सुकून, एैसा तो काम दे दे.

    उत्तर देंहटाएं
  2. एक कदम जो चलो साथ तो राह मिले
    दो कदम में तो ज़िन्दगी गुज़ार लेंगे .

    उत्तर देंहटाएं