पृष्ठ

शुक्रवार, 10 फ़रवरी 2012


मेरे बच्चे बडे हो गए  है 
मेरे बच्चे  बडे हो गए है ,  मेरा साथ अब उन्हे नहीं सुहाता 
क्यूंकि  अब वो मेरी उंगलिया थाम  कर नहीं चलते 
इसलिए कहते है कि मुझे चलना नहीं आता .
 क्यूंकि  अब शब्द उनको मिल गए है
 इसलिए गाहे बगाहे मेरा बोलना उन्हे नहीं भाता .
 क्यूंकि अब फैशन की समझ आ गयी है उन्हे 
इसलिए मेरा पहनावा उन्हे नहीं सुहाता .
मैने भी मान लिया है इसे सच
 क्यूंकि मैने भी यही किया था और 
दादी ने कहा था बेटा 
लकड़ी आगे जब जलती है धुआं है पीछे आता .....

12 टिप्‍पणियां:

  1. कम शब्दों में कही गयी गहरी बात !
    बहुत ही सुन्दर कविता !

    उत्तर देंहटाएं
  2. Call it generation gap or whatever, but this poem does reflect a bitter truth .

    उत्तर देंहटाएं
  3. यह सच सभी के लिये उसी शिद्दत से लागू होता है. परन्तु एक बात यह भी ठीक है कि चिड़िया जब अपने बच्चों को उड़ना सिखाती है और जब बच्चे उड़ना सीख जाते हैं फिर उन्हें स्वक्षंद आकाश में उड़ने के लिये छोड देती है. अगर उन्हें मुक्त नहीं किया जायेगा तो वह उन्मुक्त उड़ना कैसे सीखंगे.

    सुंदर विचार पेश करती संवेदनशील प्रस्तुति. बधाई.

    उत्तर देंहटाएं
  4. बिलकुल सही, पर हमें बच्चों की बात का बुरा नहीं मानना चाहिए :-)

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. बिलकुल ,ये शिकायत नहीं,observation है,बच्चो को बडे होते देखना बहुत ही सुखद एहसास है .....

      हटाएं
  5. बिलकुल ,ये शिकायत नहीं,observation है,बच्चो को बडे होते देखना बहुत ही सुखद एहसास है .....

    उत्तर देंहटाएं
  6. Anuja Bhatt, Vishesh Pandey and 3 others like this.

    Annuu Singh ‎:-) :-)
    February 10 at 7:01pm · Unlike · 1
    Reena Pant hahahaha
    February 10 at 7:02pm · Like · 1
    Reena Pant sach hai kya?
    February 10 at 7:02pm · Like · 1

    Annuu Singh its difficult to answer yr ths question...........???????
    February 10 at 7:04pm · Unlike · 1

    Annuu Singh Pahle hum toh badey ho..............:-) :-)
    February 10 at 7:04pm · Unlike · 1

    Pushpendra Vir कम शब्दों में कही गयी गहरी बात !
    February 10 at 9:41pm · Unlike · 1

    Nivedita Pandya Sach hai ..... Well said
    February 11 at 1:42am · Unlike · 2

    Noopur Tewari bahut sundar...
    February 11 at 1:44am · Unlike · 1

    Sudha Gupta very true..holds goods 4 all eras as generation gap will always prevail
    February 14 at 3:04pm · Unlike · 2

    उत्तर देंहटाएं